Contact +9759399575 pujapathpandit@gmail.com
Call: Puja Path Shadi Anya Dharmik Kary
We always believe We always believe प्रभु परशुराम ने यह पृथ्वी जीत कर ब्राह्मणों को दिया था। उस समय पृथ्वी पर रहने वाले समस्त उत्तर भारतीय ब्राह्मण संयुक्त रुप से गौड़ कहलाते थे। परंतु लंका विजय के बाद, इन ब्राह्मणों में वर्ग या समूह स्थापित होने प्रारंभ हो गए। भगवान परशुराम त्रेता युग (रामायण काल) में एक ब्राह्मण ऋषि के यहाँ जन्मे थे। जो विष्णु के छठा अवतार हैं
We always believe
God is Above All Things - जानिए ब्राह्मण कर्तव्य दिशा निर्देश
We always believe
God is Above All Things - ब्राह्मणोत्पत्ति
प्रभु परशुराम ने यह पृथ्वी जीत कर ब्राह्मणों को दिया था। उस समय पृथ्वी पर रहने वाले समस्त उत्तर भारतीय ब्राह्मण संयुक्त रुप से गौड़ कहलाते थे। परंतु लंका विजय के बाद, इन ब्राह्मणों में वर्ग या समूह स्थापित होने प्रारंभ हो गए।
.
भगवान परशुराम त्रेता युग (रामायण काल) में एक ब्राह्मण ऋषि के यहाँ जन्मे थे। जो विष्णु के छठा अवतार हैं
ब्राह्मण भगवान परशुराम और क्षत्रिय भगवान परशुराम

गायत्री दीक्षा लेकर कोई भी ब्रह्माण बन सकता है

ब्राह्मण जाति को हिन्दू धर्म में शीर्ष पर रखा गया है। लेकिन ब्राह्मणो के बारे में आज भी बहुत ही कम लोग जानते है, कि ब्राह्मण कितने प्रकार के होते है। स्मृति-पुराणों में ब्राह्मण के 8 भेदों का वर्णन है:- मात्र, ब्राह्मण, श्रोत्रिय, अनुचान, भ्रूण, ऋषिकल्प, ऋषि और मुनि। ब्राह्मण को धर्मज्ञ विप्र और द्विज भी कहा जाता है। 

pandit
ब्राह्मण के कर्तव्य

छः कर्तव्य

सबसे पहले ब्राह्मण शब्द का प्रयोग अथर्वेद के उच्चारण कर्ता ऋषियों के लिए किया गया था। फिर प्रत्येक वेद को समझने के लिए ग्रन्थ लिखे गए उन्हें भी ब्रह्मण साहित्य कहा गया। ब्राह्मण का तब किसी जाति या समाज से नहीं था।
===================

वेद पड़ना पड़ना , यज्ञ करना करना , दान देना और लेना

ब्राह्मण वंशावली

ब्राह्मण कितने प्रकार

यूं तो प्रभु परशुराम ने प्रभु श्रीराम के पृथ्वी पर आगमन से पूर्व ही बार-बार यह पृथ्वी जीत कर ब्राह्मणों को शासन स्वरूप देना प्रारंभ कर दिया था। उस समय पृथ्वी पर रहने वाले समस्त उत्तर भारतीय ब्राह्मण संयुक्त रुप से गौड़ कहलाते थे। परंतु लंका विजय के बाद, इन ब्राह्मणों में वर्ग या समूह स्थापित होने प्रारंभ हो गए। 

ब्राह्मणों की श्रेणियां

ब्राह्मणों में विभिन्न उपनाम..

ब्राह्मणों को सम्पूर्ण भारतवर्ष में विभिन्न उपनामों से जाना जाता है –> दीक्षित, शुक्ल, द्विवेदी त्रिवेदी, खाण्डल विप्र, ऋषीश्वर, वशिष्ठ, कौशिक, भार्गव , भारद्वाज, सनाढ्य ब्राह्मण, भूमिहार ब्राह्मण, राय ब्राह्मण, त्यागी , बैरागी वैष्णव ब्राह्मण, बाजपेयी,  श्रीखण्ड,भातखण्डे अनाविल, देशस्थ, कोंकणस्थ , दैवदन्या, देवरुखे और करहाड़े, निषाद अयंगर, हेगडे,  नम्बूदरीपाद, अयंगर एवं अय्यर, नियोगी,  राव, दास, मिश्र, शाकद्वीपीय (मग), जोशी, आदि।

allpandit

ब्राह्मणों में कई जातियां है।इससे मूल कार्य व स्थान का पता चलता है

सम्यग व्यवहार सिद्धि के लिए प्रतिपादित की। अर्थात् जिस वंश में जो आदि पुरुष परम कीर्ति वाला प्रतापी, सिद्ध पुरुष, तपस्वी ऋषि, मनीषी, कुलप्रवर्त्तक आचार्य हुआ हो उसके नाम से ही गोत्र का नामकरण हो गया, जैसे- मनुष्यों को अपनी पहचान बताने के लिए अपने नाम के साथ पिता, पितामह प्रतितामह आदि का नाम बताकर पूर्ण परिचय देता है। इस कारण आदि काल से आज तक ब्राह्मण जाति के लोग अपने आपको वशिष्ठ, भारद्वाज, भार्गव , गौतम, अत्रि कश्यपादि की सन्तान बताकर गौरव का अनुभव करते हैं। यहाँ यह भी लिख देना उचित है कि प्रत्येक गोत्र के साथ प्रतिष्ठा के नाम होते थे। जो जिस ग्राम व स्थान में बसे व जिसकी जैसी योग्यता होती थी उसी प्रतिष्ठा से उसे पुकारा जाता था। जैसे- चतुर्वेदी, द्विवेदी, त्रिवेदी, पाठक, शुक्ल, पांडे, दिक्षित, उपाध्याय, वाजपेयी एवं अग्निहोत्री आदि। इनमें वेद पढ़ने से द्विवेदी, त्रिवेदी आदि कहाये, अध्यापक होने से उपाध्याय पाठक और भट्टाचार्य कहाये। यज्ञादि कर्मानुष्ठान करने से वाजपेयी, अग्निहोत्री आरि दिक्षित कहाये श्रोत्रीय और स्मृति कर्मानुष्ठान करने से मिश्र. पुरोहित और शुद्ध निर्मल गुण-कर्मों के अनुष्ठान से शुक्ल कहाये।

ब्राह्मणों का इतिहास - स्थान , शासन, गोत्र , पदवी

आर्यावर्त्त के बीच पूर्वकाल में महाराजा जनमेजय एक बड़े चक्रवर्ती राजा का गुप्त दान भेद खुला कि जो जो ग्राम जिस जिस को मिला वह उसी में बसा और जिस ग्राम या नगर में बसा उसी पर उसका शासन हुआ, इन शासनों को कोई और अवटंक भी कहते हैं । बंगदेश से लेकर अमरनाथ पर्यन्त गौड़ देश की स्थिति है | यह श्रावस्तीपुरी गौड़ देश में इस समय मी सरयू नदी के उत्तर गोंडा नगर के समीप वर्तमान हैं, जिस देश की सीमा पूर्व में गंगा और गण्डकी का सम है, पश्चिम और दक्षिण दिशा में सरयू है, उत्तर में हिमालय है इसके मध्य की भूमि का नाम गौड़ देश है गण्डकी नदी की पश्चिमी भूमि गौड़ देश कहलाती है। सर्व प्रथम गोत्र का नाम अर्थात् जिस ऋषि की सन्तान हो उस ऋषि का नाम गोत्र हमारे गोत्र कहलाये जैसे- वशिष्ठ, भार्गव , भारद्वाज, गौतम, अत्रि कश्यपादि तथा शासन शासन को अवटंक या अल्ल भी कहते हैं जो शासन या अल्ल ब्राह्मणों के शादी विवाह मैं प्रयोग करते हैं जिससे किसी ऋषि की संतान का विवाह संयोग आपस में भाई बहन के रूप नहीं बने | पदवी जैसे- चतुर्वेदी, द्विवेदी, त्रिवेदी, पाठक, शुक्ल, पांडे, दिक्षित, उपाध्याय, वाजपेयी एवं अग्निहोत्री आदि।  Read more

shastra

छः शास्त्रों का बनना

“न्याय शास्त्र” गौतम ऋषि ने बताया. “वैशेषिकशास्त्र” कणाद मुनि ने रचा, “सांख्य शास्त्र” को कपिल आचार्य ने लिखा, “योग शास्त्र” का पातञ्जलि ने निर्माण किया, “मीमांसा शास्त्र” जैमिनी ने और “वेदान्त शास्त्र” को व्यास ने बनाया |

सूर्य सिद्धान्त

इसी प्रकार पृथ्वी और सूर्य चन्द्रमा तथा नक्षत्रों के घूमने और उदय अस्त पर वर्षों तक ध्यान दिया और यहाँ तक हद्द करदी कि दृथ्वी मुय चन्द्रमा की परिधियों को ठीक ठीक नाप लिया और उनके चक्रों का हिसाब समझ कर सूर्य चन्द्रमा के ग्रहण लगने का गुरु ऐसा सच्चा बना लिया था जो आज तक असत्य नहीं हुआ। इस समय के बने शास्त्र का नाम “सूर्य सिद्धान्त” हैं । जब ऋग्वेद और अथर्ववेद के मंत्रों पर विचार किया तब अग्नि विद्या और बिजली की विद्या को भी जान लिया था । फिर समुद्र पर दौड़ने वाली सवारी तार भृगर्भादि और आ काश में उड़ने वाले अनेक विमान भी बना लिये थे। जब क्षत्रियों का धनुविधा सिखाने की आवश्यकता हुई तब शीतल बाण, अग्निवाण, और लखसंघारीबाण बनाये गये थे। इस समय के ऋषि मनु स्वप्टा तथा विश्वकर्मा आदि हुये हैं।

ब्राह्मण एक ही जाति

सूर्य सिद्धान्त —-> इस समय में भी सब ब्राह्मण एक ही जाति के थे। अब यहाँ से बहुत काल पश्चात् ब्राह्मणों के दो भेद हो गये ओ विध्याचल के उत्तर और दक्षिण देश में गौड़ और द्राविड़ नाम से पुकारे जाने लगे अर्थात उत्तर देशवासी गौड़ ब्राह्मण और दक्षिण देश वासी द्राविड़ ब्राह्मण कहे जाते थे फिर एक एक भेद के पांच पांच भेद हुए अर्थात पञ्च गौड़ और पञ्च द्राविड़ ऐसे दश प्रकार के ब्राह्मण होगये | सारस्वत १ कान्य कुब्ज २ गौड़ ३ उत्कल ४ और मैथिल ५ ये पंच गौड़ कहलाते हैं और विध्याचल पर्वत के उत्तर में बसते हैं।  कर्णाटक   १  तैलङ्ग   २  द्राविड़   ३  महाराष्ट्रियन   ४  और गुर्जर  ५ ये पंच द्राविड़ कहलाते हैं और विध्याचल के दक्षिण देश में बसते हैं | इस प्रकार पंचगौड़ और पंच द्राविड़ मिलकरदश ब्राह्मण कहलाते हैं।

Beliefs

पृथ्वी के “प्रथम शासक” आदि गौड़ या गौड़ ब्राह्मण।

आदि गौड़ (सृष्टि के प्रारंभ से गौड़ या आदि काल से गौड़ ) या गौड़ ब्राह्मण “पृथ्वी के प्रथम शासक ब्राह्मण” उत्तर भारतीय ब्राह्मणों की पांच गौड़ब्राह्मणों की मुख्य शाखा का प्रमुख भाग है, गौड़ ब्राह्मण, आदि गौड़ तथा श्री आदि गौड़ एक ही ब्राह्मण वंश हैl .. सभी तथ्य नीचे दिए लिंक पर ..

पंच गौड़ों में कहै जो सारस्वत, कान्य कुब्ज, उत्कल और मैथिल है ये भी गौड़ ही हैं, परन्तु मिन्न भिन्न देशों में बसने से इनके नाम बदल गये हैं, जैसे सरस्वती नदी के किनारे के देशों में बसने से “सारस्वत” कन्नौज के राज्य में बसने से “कान्यकुब्ज” उत्कल देश में बसने से “उत्कल” मिथिलापुर से बसने मे मैथिल नाम पड़ा. परन्तु जो गौड़ अयाचक धर्म का पालन करते हुए अपने प्राचीन गौड़ देश में ही निवास करते रहे वे अब तक भी आदि गौड़ कहलाते हैं।

untachble

ब्राह्मणोत्पत्ति मार्तण्डया के अनुसार पृथ्वी के प्रथम ब्राह्मण (गौड़ ब्राह्मण) हैं जो छुआछूत के दोष को नहींमानते

eatingfood

मनुष्य मात्र के हाथ का भोजन ग्रहण करने में कोई बुराई नहीं मनाता क्योंकि प्रत्येक मनुष्य में इश्वर का वास् होता है गौड़ ब्राह्मणों का यह गुण,

ponga-pandit
अन्य का षड़यंत्र

दूसरों के द्वारा पृथ्वी के ‘आधुनिक ब्राह्मण’ कहा गया वेदों में भी छुआछूत को अपराध कहागया है

god-vans

गौड़ वंश आदि काल से छुआछूत का विरोधी रहा है इसप्रकार आदि गौड़ वंश समाज में छुआछूत को एक धार्मिक षड़यंत्र कहता आया है

Listen to our

भक्ति संगीत आराधना पूजा पाठ

  • Shiv Shakti -
Update Required To play the media you will need to either update your browser to a recent version or update your Flash plugin.
  • 1 Jan 2022- A New Update - Om Tryambakam Yajamahe | Shankar Mahadevan
Update Required To play the media you will need to either update your browser to a recent version or update your Flash plugin.

Our Services

सामाजिक गतिविधिया

सनातन धर्म सभा
शादी समारोह
सम्मान समारोह
कर्तव्य जागरूक
शिक्षा जागरुकता
पूजा पाठ
Brahmins-samaj1

Events

ब्राह्मण, हिन्दू वर्ण व्‍यवस्‍था का एक वर्ण है। यास्क मुनि के निरुक्त के अनुसार, ब्रह्म जानाति ब्राह्मणः अर्थात् ब्राह्मण वह है जो ब्रह्म (अंतिम सत्य, ईश्वर या परम ज्ञान) को जानता है। अतः ब्राह्मण का अर्थ है “ईश्वर का ज्ञाता”।

यद्यपि भारतीय जनसंख्या में ब्राह्मणों का दस प्रतिशत है तथापि धर्म, संस्कृति, कला तथा शिक्षा के क्षेत्र में देश कि आजादी और भारत राजनीति में महान योगदान रहता आया है। उत्तर प्रदेश=14%, बिहार=7%, उत्तराखंड=25%, हिमाचल प्रदेश=18%, मध्यप्रदेश=6% , राजस्थान=9.5%, हरियाणा=10%, पंजाब=7%, जम्मू कश्मीर=12%, झारखंड= 5%, दिल्ली=15% और देश कि लगभग=10% है ।

Success

Stories

मुनि : जो व्यक्ति निवृत्ति मार्ग में स्थित, संपूर्ण तत्वों का ज्ञाता, ध्याननिष्ठ, जितेन्द्रिय तथा सिद्ध है ऐसे ब्राह्मण को ‘मुनि’ कहते हैं।

स्मृति-पुराण

ब्राह्मण के 8 भेदों का वर्णन

ऋषि : ऐसे व्यक्ति तो सम्यक आहार, विहार आदि करते हुए ब्रह्मचारी रहकर संशय और संदेह से परे हैं और जिसके श्राप और अनुग्रह फलित होने लगे हैं उस सत्यप्रतिज्ञ और समर्थ व्यक्ति को ऋषि कहा गया है।

स्मृति-पुराण

ब्राह्मण के 8 भेदों का वर्णन

ऋषिकल्प : जो कोई भी व्यक्ति सभी वेदों, स्मृतियों और लौकिक विषयों का ज्ञान प्राप्त कर मन और इंद्रियों को वश में करके आश्रम में सदा ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए निवास करता है उसे ऋषिकल्प कहा जाता है।

स्मृति-पुराण

ब्राह्मण के 8 भेदों का वर्णन

God Brahman Team

कार्यकारिणी सदस्य

From the blog

Latest News

21 Sep

Ank Jyotish 22 September 2023: स्वभाव को सराहा जाएगा, इस मूलांक वाले निवेश करने बचें

आज का अंक राशिफल: आपका स्वभाव सराहा जाएगा। कई लोग आपकी तारीफ करेंगे।…

21 Sep

Maha Laxmi Vrat 2023: महालक्ष्मी व्रत के दौरान इन नियमों का रखें ध्यान, तभी मिलेगा मां का आशीर्वाद

महालक्ष्मी व्रत रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और धन, सुख, सौभाग्य…

21 Sep

Sankashti Chaturthi 2023: 2 अक्टूबर को है संकष्टी चतुर्थी, गणपति की पूजा से दूर होंगी विघ्न-बाधाएं

सूर्योदय से शुरू होने वाला संकष्टी व्रत चंद्र दर्शन के बाद ही समाप्त…

21 Sep

नवरात्रि के एक दिन पहले शनि देव बदलेंगे नक्षत्र, इन राशियों के आएंगे अच्छे दिन

Shani Nakshatra Transit: 15 अक्टूबर को शनि महाराज का नक्षत्र परिवर्तन होगा। इसके…

भारत

  • Women Reservation Bill: Sushil Modi ने Congress से पूछ लिया, 'बिल पहले क्यों नहीं पास कराया आपने ? - ABPLIVE

    Women Reservation Bill: Sushil Modi ने Congress से पूछ लिया, 'बिल पहले क्यों नहीं पास कराया आपने ?  ABPLIVEParliament Special Session LIVE: राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पर चर्चा जारी, वोटिंग के दौरान मौजूद रहेंगे पीएम मोदी  Aaj TakOpinion: बीजेपी-कांग्रेस में महिला आरक्षण का श्रेय लेने की होड़, लेकिन सच्चा हकदार कौन?  NBT नवभारत टाइम्स (Navbharat Times)Google समाचार पर पूरी खबर देखें

  • UP Trade Show | Greater Noida में International Trade Show का आयोजन - NDTV India

    UP Trade Show | Greater Noida में International Trade Show का आयोजन  NDTV IndiaUP Trade Show: आज से यूपी का पहला इंटरनेशनल ट्रेड शो, राष्ट्रपति मुर्मू करेंगी उद्धाटन  Zee NewsAligarh News: इंटरनेशनल ट्रेड शो में सजे ताला-हार्डवेयर के स्टॉल  अमर उजालानोएडा समाचार: एक्वा लाइन पर अब हर साढ़े सात मिनट पर मिलेगी मेट्रो, जानिए ये सुविधा कब तक रहेगी  NBT नवभारत टाइम्स (Navbharat Times)Google समाचार पर पूरी खबर देखें

  • Bihar Vigilance Unit Raid: 8 साल की नौकरी...ढाई करोड़ की संपत्ति - Zee Bihar Jharkhand

    Bihar Vigilance Unit Raid: 8 साल की नौकरी...ढाई करोड़ की संपत्ति  Zee Bihar Jharkhandइंजीनियर के ठिकानों पर रेड..7 करोड़ की संपत्ति मिली: 4 जगहों से मिले 40 लाख कैश, नौकरी में अब तक 68 लाख सैलर...  Dainik Bhaskarबिहार में बिजली से काली कमाई! 8 साल की नौकरी में ढाई करोड़ की संपत्ति, पटना से पूर्णिया तक खड़ा किया बंगला  NBT नवभारत टाइम्स (Navbharat Times)Bihar Vigilance Unit Raid: बांका के विद्युत कार्यपालक अभियंता के ठिकानों पर विजिलेंस का छापा,  ABP न्यूज़Google समाचार पर पूरी खबर देखें

  • पहले कनाडा के सिंगर-रैपर का भारत में शो हुआ कैंसिल... अब इन कंपनियों का विरोध! - Aaj Tak

    पहले कनाडा के सिंगर-रैपर का भारत में शो हुआ कैंसिल... अब इन कंपनियों का विरोध!  Aaj TakCanada के सिंगर शुभ का भारत के 10 शहरों में शो कैंसिल, जानिए क्या है पूरा मामला? Shubh | Khalistan  Zee Newsकनाडा के रैपर शुभनीत गिल का मुंबई कंसर्ट रद्द, खालिस्तान के सपोर्ट में की थी ये हरकत  Aaj Takखालिस्तान के चक्कर में BookMyShow पर आफत, शार्क टैंक वाले अमन गुप्ता की हो रही तारीफ , क्या है पूरा मामला  NBT नवभारत टाइम्स (Navbharat Times)Google समाचार पर पूरी खबर देखें

  • महिंद्रा ने कनाडा के संग किया बड़ा खेल | India Canada Trade Tension | Visa ban|Kharcha Pani Ep 677 - The Lallantop

    महिंद्रा ने कनाडा के संग किया बड़ा खेल | India Canada Trade Tension | Visa ban|Kharcha Pani Ep 677  The Lallantopइधर बढ़ा विवाद, उधर आनंद महिंद्रा ने बढ़ा दी टेंशन, समेटा कनाडा से अपना कारोबार  NBT नवभारत टाइम्स (Navbharat Times)आनंद महिंद्रा ने कनाडा को दिया तगड़ा झटका, बंद कर दी अपनी ये कंपनी  TV9 BharatvarshIndia-Canada Row: महिंद्रा एंड महिंद्रा का बड़ा ऐलान, सब्सिडियरी कंपनी ने कनाडा में बंद किया अपना कारोबार  News18 हिंदीGoogle समाचार पर पूरी खबर देखें

  • उड़ते विमान का इमरजेंसी गेट खोलने की कोशिश, सिरफिरे को यात्रियों ने दबोचा - Aaj Tak

    उड़ते विमान का इमरजेंसी गेट खोलने की कोशिश, सिरफिरे को यात्रियों ने दबोचा  Aaj Takबीच हवा में फ्लाइट का गेट खोलने लगा शख्स, रोकने पर केबिन क्रू से की बदतमीजी, फिर  ABP न्यूज़Video: हजारों फुट की ऊंचाई पर युवक खोलने लगा प्लेन का इमरजेंसी डोर, प्लेन में यात्रियों ने की पिटाई  CrimeTakIndigo: उड़ती फ्लाइट में अचानक इमरजेंसी गेट खोलने लगा यात्री, इसके बाद जो हुआ...  Zee News HindiGoogle समाचार पर पूरी खबर देखें

  • Chandrayaan-3: सूरज से जगेगी उम्मीद की किरण, या सोता रह जाएगा विक्रम? चंद्रयान-3 के लिए कल बड़ा दिन - Aaj Tak

    Chandrayaan-3: सूरज से जगेगी उम्मीद की किरण, या सोता रह जाएगा विक्रम? चंद्रयान-3 के लिए कल बड़ा दिन  Aaj TakChandrayaan 3: Pragyan Rover और Lander Vikram को जगाएगा ISRO, Shiv Shakti Point पर होगी सुबह  Amar Ujalaचंद्रयान-3 के फिर जागने की उम्मीद: साउथ पोल पर सूरज की रोशनी पहुंचने लगी, इसरो कल कम्युनिकेट करने की कोशिश ...  Dainik Bhaskarआज फिर जागेगा चंद्रयान 3!, सूर्योदय से होगा कमाल | Chandrayaan 3 | Breaking News | Vikram | Pragyan  Zee NewsGoogle समाचार पर पूरी खबर देखें

  • Exclusive: इस 'ऑल आउट' प्लान से कनाडा में छिपे आतंकी पड़ जाएंगे ठंडे, खालिस्तान पर ट्रूडो हो जाएंगे फेल - अमर उजाला

    Exclusive: इस 'ऑल आउट' प्लान से कनाडा में छिपे आतंकी पड़ जाएंगे ठंडे, खालिस्तान पर ट्रूडो हो जाएंगे फेल  अमर उजालाकनाडा में आतंकी पन्नू ने ISI के साथ की सीक्रेट मीटिंग, ट्रूडो के देश में रची जा रही भारत के खिलाफ साजिश!  Aaj Takकनाडाई धरती पर छिपे हैं कई खालिस्तान समर्थक और आतंकवादी, कनाडा कब करेगा कार्रवाई...?  NDTV IndiaCanada: India ने खालिस्तानी निज्जर को आंतकी घोषित किया लेकिन सरकार ने उसे नागरिकता दे दी।  Amar Ujalaकनाडा में गैंग्सटर-आतंकवादियों और ड्रग कॉर्टेल का गठजोड़, क्या बरबाद हो जाएगा कनाडा?  Aaj TakGoogle समाचार पर पूरी खबर देखें

  • मणिपुर में पुलिस स्टेशनों, अदालतों पर भीड़ का धावा: प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षा बलों ने आंसू गैस के गोले छोड़... - Dainik Bhaskar

    मणिपुर में पुलिस स्टेशनों, अदालतों पर भीड़ का धावा: प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षा बलों ने आंसू गैस के गोले छोड़...  Dainik Bhaskarमणिपुर: 5 युवकों की गिरफ्तारी को लेकर भीड़ ने थानों और कोर्ट पर बोला धावा  Aaj TakManipur: 5 सशस्त्र लोगों की गिरफ्तारी के बाद मीरा पैबिस ने थाने पर बोला धावा  NDTV Indiaमणिपुर हिंसा: भीड़ ने की पुलिस स्टेशनों पर धावा बोलने की कोशिश; सुरक्षाबलों ने दिया जवाब; कर्फ्यू में ढील रद्द  अमर उजालाManipur Violence मणिपुर में आरोपितों को छुड़ाने के लिए प्रदर्शन थानों पर हमले की कोशिश..  दैनिक जागरण (Dainik Jagran)Google समाचार पर पूरी खबर देखें

  • Sex in Love Affair is Not Rape: प्रेम प्रसंग में शारीरिक संबंध रेप नहीं...लेकिन ये 7 हालात जिनकी वहज से जा सकते हैं जेल | - IBC24 News (हिंदी)

    Sex in Love Affair is Not Rape: प्रेम प्रसंग में शारीरिक संबंध रेप नहीं...लेकिन ये 7 हालात जिनकी वहज से जा सकते हैं जेल |  IBC24 News (हिंदी)प्रेम प्रसंग में बने शारीरिक संबंध रेप नहीं... लेकिन वो 7 हालात जो पहुंचा सकते हैं जेल  Aaj Takप्रेम प्रसंग में बने शारीरिक संबंध रेप नहीं - हाईकार्ट  CrimeTakप्यार में बने शारीरिक संबंध रेप नहीं... इलाहाबाद HC की टिप्पणी  Aaj TakGoogle समाचार पर पूरी खबर देखें

दुनिया