Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

इन 4 राशि के लोगों को आता है हद से ज्यादा गुस्सा, क्रोध में कर बैठ​ते हैं अपना ही नुकसान

ज्योतिष (Astrology) में तमाम ग्रह और नक्षत्रों के अलावा 12 राशियों का भी जिक्र किया गया है. कहा जाता है कि हर व्यक्ति का संबन्ध इन 12 राशियों में से किसी न किसी राशि (Zodiac Sign) से जरूर होता है. राशि के अनुसार ही व्यक्ति में गुण और अवगुण भी देखने को मिलते हैं क्योंकि हर राशि का अपना एक स्वामी ग्रह होता है. स्वामी ग्रह (Planet) की प्रकृति और गुण का प्रभाव राशि से जुड़े व्यक्ति में देखने को मिलता है. ज्योतिष के लिहाज से कुछ राशियों के स्वामी ग्रह उग्र मिजाज के होते हैं, ऐसे में उन राशियों से जुड़े व्यक्तियों को भी क्रोध का स्वभाव जन्म से ही देखने को मिलता है. यदि समय रहते इस आदत को नियंत्रित न किया जाए, तो ये क्रोध इतना बढ़ जाता है कि व्यक्ति इसके चलते खुद का ही नुकसान करने लगता है.

मेष राशि

इस राशि का स्वामी मंगल होता है. मंगल को ग्रहों का सेनापति कहा गया है. ये उग्र स्वभाव का ग्रह है, इस कारण मेष राशि के लोगों के स्वभाव में भी क्रोध होता है. मंगल ग्रह को बहादुरी और पराक्रम का प्रतीक माना गया है. इस कारण मेष राशि के लोग भी काफी साहसी होते हैं. ये किसी भी काम को करने में नहीं डरते. ये लोग छोटी छोटी बातों को ईगो पर लेकर आग बबूला हो जाते हैं. किसी भी बात पर अगर इन्हें गुस्सा आ गया, तो इन्हें काबू कर पाना मुश्किल हो जाता है.

सिंह राशि

सिंह राशि अग्नि तत्व की राशि है और इसका स्वामी सूर्य है. वैसे तो ये लोग सूर्य के समान तेजस्वी होते हैं और राजा की तरह आजाद खयालों वाले होते हैं. ये जहां जाते हैं, अपना प्रभाव बहुत जल्दी बना लेते हैं. लेकिन इनके अंदर गुस्सा बहुत होता है. गुस्से के कारण ये कई बार अपना ही नुकसान कर बैठते हैं. इन्हें कब और किसकी बात बुरी लग जाए, इसका कुछ पता नहीं होता.

धनु राशि

धनु राशि के स्वामी गुरु हैं, इसलिए ये लोग काफी बुद्धिमान होते हैं और इनका शिक्षा के प्रति काफी झुकाव होता है. इनमें किसी चीज को जानने की उत्सुकता काफी होती है, इसलिए ये जीवनभर कुछ न कुछ सीखते रहते हैं और दूसरों को भी ज्ञान देते रहते हैं. लेकिन इनकी राशि अग्नि तत्व की है, इसलिए इनमें भी गुस्सा बहुत होता है. एक बार अगर ये किसी बात पर नाराज हो जाएं, तो इन्हें समझा पाना आसान नहीं होता. बुद्धिमान होने के कारण इनमें तार्किक शक्ति भी जबरदस्त होती है. ऐसे में ये सामने वाले को खरीखोटी सुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ते. गुस्से की वजह से ये लोग कई बार अपने ही रिश्तों को खराब कर लेते हैं.

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि का स्वामी भी मंगल है. इस राशि के लोगों को सम्मान बेहद प्यारा होता है. सम्मान पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं. अगर कोई इनके सम्मान को ठेस पहुंचाए, तो ये क्रोधवश​ किसी भी हद तक जा सकते हैं. अगर ये लोग किसी से चिढ़ जाएं, तो उसे सबक सिखा कर ही दम लेते हैं. इस दौरान कई बार ये खुद का नुकसान भी कर बैठते हैं.

 

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

 

यह भी पढ़ें – Meen Sankranti 2022 : 15 मार्च को है मीन संक्रान्ति, इसके साथ ही एक माह तक बंद हो जाएंगे शुभ काम

यह भी पढ़ें – Vastu tips in Hindi: प्रेगनेंसी से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में कारगर हैं ये वास्तु टिप्स!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *