Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

घर में इस जीव का दिखना माना जाता है शुभ, सुख-शांति के साथ होती है धन की वर्षा

छिपकली एक ऐसा जीव है जो अचानक घर में दिख जाए तो लोग डर जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते ये जीव धनलाभ का संकेत भी देता है. जी हां माना जाता है कि घर के मंदिर या पूजा घर में छिपकली (lizards) का दिखना बहुत अच्छा संकेत होता है. इस जीव (creature) का दिखना न केवल धन लाभ का संकेत देता है बल्कि ये घर के सदस्यों के बीच सामंजस्य बनाए रखता है. ये घर की आर्थिक स्थिति (economic condition) में सुधार की ओर भी इशारा करता है. ये भविष्य में होने वाली घटनाओं के लिए भी संकेत देता है. आइए जानें छिपकली का कहां दिखना शुभ होता है.

छिपकली को किस दिन देखना शुभ माना जाता है

दिवाली की रात जब आप छिपकली को घर में देखते हैं तो ये बहुत ही शुभ संकेत होता है. दरअसल छिपकली का मतलब मां लक्ष्मी से है और माना जाता है कि दिवाली के दिन घर में छिपकली का आना या दिखना घर में लक्ष्मी के आगमन को दर्शाता है.

नए घर में छिपकली देखना

नए घर में या घर में प्रवेश के समय छिपकली दिखाई देखें तो ये किसी पूर्वज या पिता के आगमन को दर्शाता है. ऐसा माना जाता है कि पूर्वज छिपकली के रूप में प्रकट होते हैं और हमें आशीर्वाद देने आते हैं. हालांकि अगर आप नए घर में प्रवेश कर रहे हैं और आपको छिपकली मरी हुई या मिट्टी में दबी हुई दिखाई दे तो ये एक अशुभ संकेत देता है.

सपने में छिपकली का दिखना

सपने में छिपकली को लड़ते हुए देखना मतभेद दर्शाता है. वहीं अगर आप सपने में छिपकली पकड़ने की कोशिश करते हैं और वह डर से भागती हुई नजर आती है तो ये एक अच्छा संकेत है. इसका मतलब है कि आपको बहुत जल्द शुभ समाचार मिलने वाला है और धन लाभ होगा.

छिपकलियों को लड़ते हुए देखना

अगर घर में दो या दो से अधिक छिपकलियां लड़ते हुए दिखाई दें तो ये अशुभ संकेत देती है. आपको बता दें कि छिपकलियों की लड़ाई भी घर में लोगों के बीच असामंजस्य दिखाती है. इससे घर में लड़ाई-झगड़े होते हैं.

छिपकली का जमीन पर चलना

अगर घर में छिपकली बार-बार जमीन में हिलती या रेंगती नजर आती है तो ये भूकंप या तूफान जैसी प्राकृतिक घटना का संकेत देती है.

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

 

ये भी पढ़ें – अमंगल का नाश करता है मंगलवार का व्रत, लेकिन इसके नियमों का पालन करना बहुत जरूरी

ये भी पढ़ें – Mauni Amavasya 2022 : आज के दिन ये 5 गलतियां भूलकर भी न करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *