Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

ज्‍योतिष: इन अशुभ योगों के कारण जीवन में रहती बाधा, सफल होने के लिए करना पड़ता है संघर्ष

Astrology: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चांडाल योग तब निर्मित होता है। जब किसी राशि या भाव में बृहस्पति और राहु एक साथ स्थित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *