Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

शनिवार के दिन सुबह के समय दिखें ये चीजें, तो समझिए जल्द ही आपके अच्छे दिन आने वाले हैं…

शनिवार का दिन शनिदेव (Shanidev) को समर्पित होता है. आमतौर पर शनिदेव का स्वभाव काफी क्रूर बताया जाता है, लेकिन ऐसा नहीं है. वास्तव में शनिदेव न्याय के देवता हैं, जो कर्म के अनुसार लोगों को फल देते हैं. जरूरत पड़ने पर दंडित ​करते हैं और पुरस्कृत भी करते हैं. कहा जाता है कि शनि की साढ़ेसाती (Shani Sadesati), महादशा और ढैय्या आदि से भी हर व्यक्ति जीवन में कभी न कभी जरूर गुजरना पड़ता है, लेकिन अगर आपके कर्म अच्छे होंगे, तो इस अवस्था में भी आपको कभी कष्ट नहीं मिलेगा. इसलिए अपने कर्मों को बेहतर बनाइए. कहा जाता है कि अगर शनिदेव व्यक्ति के कर्मों (Karmas) से प्रसन्न हो गए और व्यक्ति पर उनकी कृपा हो गई, तो उसकी किस्मत चमक उठती है. रंक से राजा बनते उसे देर नहीं लगती.

शनिदेव की आप पर कृपा है, इसे आप कुछ संकेतों से जान सकते हैं. यहां जानिए उन चीजों के बारे में जो अगर आपको शनिवार के दिन सुबह के समय सड़क पर दिख जाएं तो समझ लीजिए कि ये शनिदेव की महिमा है. ये संकेत है कि शनिदेव की कृपा से जल्द ही आपकी रूठी किस्मत चमकने वाली है और आपके जीवन में परेशानियों का खात्मा होकर अच्छे दिन आने वाले हैं.

 

भिखारी

जरूरतमंदों की मदद करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं. अगर आपके दरवाजे पर शनिवार के दिन सुबह के समय कोई भिखारी आ जाए, तो उसे डांटकर कभी न भगाएं. ये बेहद शुभ माना जाता है और शनिदेव की कृपा का संकेत है. ऐसे में सामर्थ्य अनुसार दान देकर उसकी मदद करें. शनिदेव इससे अत्यंत प्रसन्न होते हैं.

सफाईकर्मी

अगर सुबह के समय घर से किसी काम को करने के लिए निकले हैं और आपको अचानक कोई सफाईकर्मी सड़क पर झाडू लगाता दिख जाए, तो इसे भी काफी शुभ माना जाता है. ऐसे में उस व्यक्ति को अपनी तरफ से कुछ न कुछ जरूर दें. इसका मतलब है कि आपके साथ अब शनिदेव हैं. आपको आपके काम में सफलता जरूर मिलेगी.

काला कुत्ता

शनिवार की सुबह काले कुत्ते का सड़क पर दिखना भी बहुत शुभ माना जाता है. काला कुत्ता शनिदेव का वाहन माना गया है. ऐसे में काले कुत्ते को दूध रोटी, सरसों के तेल का पराठा, ब्रेड आदि कुछ भी खिला दें. इससे शनिदेव अत्यंत प्रसन्न होते हैं और आप पर उनकी कृपा दृष्टि बनी रहती है.

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

यह भी पढ़ें – इस बार पूर्णिमा तिथि पर पड़ रहा भद्रा का साया, जानिए क्यों अशुभ माना जाता है भद्राकाल

यह भी पढ़ें – सपने में इस तरह दिखे पानी, तो समझिए बड़ी मुसीबत आने वाली है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *