Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

Basant Panchami 2022 : बसंत पंचमी के मौके पर माता सरस्वती को इन पारंपरिक व्यंजनों से भोग लगाएं

बसंत पंचमी (Basant Panchami 2022) का त्योहार नजदीक है. इस दिन माता सरस्वती की पूजा की जाती है. इस साल बसंत पंचमी का त्योहार 5 फरवरी को मनाया जाएगा. इस दिन लोग पीले कपड़े पहनते हैं. पतंग उड़ाते हैं और पारिवारिक समारोहों का आनंद लेते हैं. पीला रंग ‘बसंती’ रंग के रूप में भी प्रसिद्ध है और ऊर्जा, समृद्धि, आशावाद और प्रकाश का प्रतीक है. इसलिए त्योहार (Festival) से जुड़े कई व्यंजन भी पीले रंग में तैयार किए जाते हैं. बसंत पंचमी के दिन तरह-तरह के नमकीन और मीठे व्यंजन (traditional recipes) बनाए जाते हैं. आप इस दिन मीठे चावल, मखाना खीर, ढोकला और खांडवी जैसे व्यंजन बना सकते हैं.

मीठे चावल

इस डिश को चावल, दालचीनी, पिसी हुई चीनी, केसर, लौंग, इलायची, नारियल और सूखे मेवों से बनाया जाता है. चीनी की चाशनी स्वाद को बढ़ाती है. केसर इसे पीला रंग देता है. बहुत से लोग इस दिन देवी-देवताओं की पूजा के दौरान इन चावल से भोग लगाते हैं.

ढोकला और खांडवी

ये बेसन का इस्तेमाल करके तैयार किया जाने वाला एक हल्का नाश्ता व्यंजन है. ये गुजराती व्यंजनों में एक लोकप्रिय नाश्ता है. इसमें बहुत सारी सामग्री की आवश्यकता नहीं होती है. इसे तैयार करना बहुत आसान है. कई लोग बेसन और दही से खांडवी बनाना पसंद करते हैं. इसे नारियल से भी गार्निश कर सकते हैं.

मखाना खीर

इस मीठे व्यंजन को दूध और चावल जैसी सामग्री का इस्तेमाल करके बनाया जाता है. इसे बनाने के लिए सूखे मेवे का इस्तेमाल भी किया जाता है. मखाना खीर उन प्रसिद्ध व्यंजनों में से एक है जो लोग अपने घरों में बनाते हैं. आप नारियल की खीर भी बना सकते हैं.

पकोड़ा कढ़ी

कढ़ी बेसन, दही या छाछ और बेसन से बने पकोड़े का इस्तेमाल करके बनाई जाती है. कुछ लोग इसमें स्वाद के लिए लहसुन और प्याज का इस्तेमाल भी करते हैं. कढ़ी पकने के बाद इसमें पकोड़े डाले जाते हैं. इस कढ़ी को जीरा राइस के साथ परोसा जाता है. ये एक प्रसिद्ध व्यंजन है जिसे बसंत पंचमी के उत्सव के दौरान दोपहर के भोजन के लिए परोसा जाता है.

बेसन और बूंदी के लड्डू

बसंत पंचमी के मौके पर बेसन या बूंदी के लड्डू घरों में लोकप्रिय रूप से बनाए जाते हैं. ये लड्डू बनाने में आसान है और घर पर किसी भी अवसर या पूजा के लिए एकदम सही हैं.

खिचड़ी

सरस्वती पूजा के दौरान खिचड़ी को प्रसिद्ध व्यंजन के रूप में मनाया जाता है. इसे प्रसाद के रूप में परोसा जाता है. ये बंगालियों के पसंदीदा व्यंजनों में से एक है. इसे चावल और दाल से बनाया जाता है. इसे बनाना बहुत आसान है. स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें कुछ सब्जियां और मसाले भी मिला सकते हैं.

 

ये भी पढ़ें – अनगिनत फायदों से भरा है बादाम का हलवा, जानें इसकी आसान और स्वादिष्ट रेसिपी

ये भी पढ़ें – Basant Panchami 2022 : बसंत पंचमी पर पीले रंग को क्यों माना जाता है शुभ, जानें इसका महत्व

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *