Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

Karva Chauth 2021 kab hai | करवा चौथ कब है 2021 | करवा चौथ का शुभ मुहूर्त कब है वाराणसी समय अनुसार

करवा चौथ कब है 2021 – हिंदू धर्म में करवा चौथ का एक विशेष महत्व माना जाता है। यह व्रत महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना के साथ रखती हैं। मान्यता है कि करवा चौथ का व्रत करने से स्त्री को अखंड सौभाग्यवती का आशीर्वाद प्राप्त होता है।
करवा चौथ का व्रत बेहद कठिन व्रत में से एक है। इस व्रत में महिलाएं पूरे दिन निर्जला रहती हैं। उसके बाद रात्रि में पूजा करके चंद्र दर्शन पूजा करने के बाद अपना व्रत खोलती हैं।

करवा चौथ कब पड़ता है?

करवा चौथ का व्रत प्रत्येक साल कार्तिक महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को रहता है। जिस दिन चतुर्थी तिथि रहता है। उसी दिन करवा चौथ का व्रत किया जाता है। उसी की शाम चंद्रमा का दर्शन पूजा करके अपना व्रत खोला जाता है।

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त कब है?

करवा चौथ का व्रत इस वर्ष 24 अक्टूबर, दिन रविवार को रहेगा। 24 अक्टूबर को ही करवा चौथ का व्रत किया जाएगा। आइए जान लेते हैं। करवा चौथ में चतुर्थी तिथि के प्रारंभ और समाप्त होने के समय के बारे में और चंद्रमा उदय कब हो रहा है।
दिनांक – 24 अक्टूबर 2021
वार – रविवार
चतुर्थी तिथि का प्रारंभ – 24 अक्टूबर 2021 रात्रि 12:43 पर होगा।
चतुर्थी तिथि का समापन – 25 अक्टूबर 2021 रात्रि 2:51 पर होगा।
चंद्रोदय समय – 24 अक्टूबर 2021 रात्रि 7:52 पर होगा।
पूजा का शुभ मुहूर्त – 24 अक्टूबर 2021 शाम 6:23 के बाद पूजा प्रारंभ करें।
 

करवा चौथ का व्रत कैसे करें?

करवा चौथ के दिन सूर्योदय होने से पहले उठकर स्नान करके सरगी खा ले। फिर पूजा पाठ करके निर्जला व्रत करें। और शाम के समय भगवान की पूजा करें। इसके लिए आप मिट्टी के बने हुए बेदी पर सभी देवताओं को स्थापित कर दें। फिर विधि विधान से उनकी पूजा करें।
करवा चौथ का कथा पढ़ें और चांद निकलने के बाद चांद को छलनी से देखें। उसके बाद अर्घ्य चढ़ाएं। अर्घ्य चढ़ाने के बाद ही पति के हाथों से पानी पीकर अपना व्रत खोलें। उसके बाद अपनी सास का भी आशीर्वाद ले। ऐसा करने से अखंड सौभाग्यवती का आशीर्वाद प्राप्त होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *