Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

Mahashivratri 2022: इस दिन 14 मुखी रुद्राक्ष पहनना होता है बहुत शुभ, जानें इसके लाभ

ज्यादातर लोग जीवन ( Happy life  tips ) को सुचारू रूप से चलाने के लिए मेहनत करते हैं. उनकी कोशिश रहती है कि अगर वे नौकरी कर रहे हैं, तो उन्हें उनके कार्यक्षेत्र में या फिर वे व्यापारी हैं, तो उन्हें उनके कारोबार के क्षेत्र में सफलता मिले. कई बार अपने स्तर पर कड़ी मेहनत करने के बावजूद सफलता ( Success in life ) मिलती नहीं है. इस स्थिति से छुटकारा पाने के लिए ज्योतिष शास्त्र की शरण ली जा सकती है. कहते हैं कि भगवान शिव का महाप्रसाद माने जाने वाले रुद्राक्ष ( Rudraksha benefits ) को विधि-विधान से धारण करना शुभ माना जाता है. इससे कार्यक्षेत्र में तरक्की मिलती है और परिवार में भी सब कुछ ठीक रहता है.

हम आज महाशिवरात्रि ( Maha Shivratri 2022 ) के मौके पर 14 मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के बाद मिलने वाले लाभ के बारे में बताने जा रहे हैं. 14 मुखी रुद्राक्ष के बारे में कहा जाता है कि इसे भगवान शिव ही नहीं हनुमान जी का भी आर्शीवाद मिला हुआ है. पौराणिक शास्त्रों में इसे देवमणि या महाशनि के नाम से भी पुकारा जाता है. मान्यता है कि इसका उदय भगवान महाकालेश्वर के तीसरे नेत्र से गिरे हुए अश्रु से हुआ था. कहते हैं कि जिस तरह भगवान शिव की तीसरी आंख से बुरी शक्तियों को नाश होता है, उसकी तरह इस रुद्राक्ष को धारण करने से जीवन में बनी हुई नेगेटिविटी दूर होती है. जानें महाशिवरात्रि के मौके पर इसे धारण करने वाले लाभों के बारे में..

14 मुखी रुद्राक्ष को पहनने के लाभ

– अगर आप और आपके परिवार के सदस्य घर में दुख एवं अशांति भरे माहौल का लंबे समय से सामना कर रहे हैं, तो इस स्थिति में आपको इस रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए. इसे महाशिवरात्रि के मौके पर गंगाजल की मदद से अभिषेक करके जरूर पहनें.

– यदि आप शिक्षा जगत से जुड़े हुए हैं और आप प्रोफेसर या फिर अध्यापक हैं तो आपको अपने कार्यक्षेत्र में सफलता पाने के लिए छह मुखी और 14 मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए.

– कहते हैं कि जो व्यक्ति पूरे विधि-विधान के साथ 14 मुखी रुद्राक्ष को धारण करता है, उससे नकारात्मक ऊर्जा दूर रहती है और ये उसे आध्यात्मिक सार भी प्रदान करता है.

– 14 मुखी रुद्राक्ष को पहनने से शारीरिक लाभ भी मिलते हैं. ऐसा माना जाता है कि इस रुद्राक्ष को धारण करने के बाद हड्डियों और मांसपेशियों में हो रहे दर्द से राहत मिलती है. साथ ही ये हमें अन्य कई स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से बचा कर रखता है.

– अगर जीवन में शनि की साढ़े साती दस्तक दे जाए, तो लंबे समय तक आर्थिक एवं शारीरिक रूप से परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 14 मुखी रुद्राक्ष से शनि की साढ़े साती के प्रभाव से बचा जा सकता है.

ये भी पढ़ें

Maha Shivratri 2022: महाशिवरात्रि के दिन भूल से भी न करें ये गलतियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *