Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

Mahashivratri 2022 : महादेव का महाप्रसाद है रुद्राक्ष, इस महाशिवरात्रि पर जरूर करें धारण

सनातन परंपरा में भगवान शिव (Lord Shiva) की कृपा दिलाने वाली शिव रात्रि (Shivratri) प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष कि चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती है, किन्तु फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि (Mahashivratri) के महापर्व के रूप में मनाया जाता है. इस दिन भगवान शिव की पूजा करने पर शिव साधक को विशेष फल की प्राप्ति होती है. यदि आप चाहते हैं कि आपके उपर पूरे साल शिव की कृपा बरसती रहे तो इस महाशिवरात्रि पर भगवान शिव का महाप्रसाद माने जाने वाले रुद्राक्ष (Rudraksha) को विधि-विधान से धारण करना न भूलें.

रुद्राक्ष का धार्मिक महत्व

भगवाान शिव की पूजा जिन चीजों को चढ़ाने से उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है, उसमें रुद्राक्ष (Rudraksha) से उत्तम कुछ हो नहीं सकता है. ऐसे में यदि आप चाहते हैं कि आपके जीवन सब कुछ मन का हो तो इस महाशिवरात्रि पर जरूर धारण करें शिव का मनका. जी हां महादेव का महाप्रसाद माने जाने वाले रुद्राक्ष को धारण करने से व्यक्ति के सभी रोग, शोक और भय दूर होते हैं और उसे जीवन में सुख, समृद्धि और सौभाग्य की प्राप्ति होती है. मान्यता है कि भगवान शिव के आंसुओं से बने रुद्राक्ष में भी किसी व्यक्ति के दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने में शक्ति होती है.

राशि के अनुसार धारण करें रुद्राक्ष

ज्योतिष के अनुसार जिस तरह अलग-अलग ग्रहों की शुभता पाने के लिए अगल-अलग रत्नों को धारण किया जाता है, उसी तरह अलग-अलग राशियों के लिए भगवान शिव की कृपा दिलाने वाला अलग-अलग संख्या वाला रुद्राक्ष धारण किया जाता है. आइए 12 राशियों से संबंधित रुद्राक्ष के बारे में जानते हैं.

मेष राशि के लिए रुद्राक्ष – एक मुखी, तीन मुखी या फिर पांच मुखी रुद्राक्ष
वृष राशि के लिए रुद्राक्ष – चार मुखी, छह मुखी या फिर चौदह मुखी रुद्राक्ष
मिथुन राशि के लिए रुद्राक्ष – चार मुखी, पांच मुखी और तेरह मुखी रुद्राक्ष
कर्क राशि के लिए रुद्राक्ष – तीन मुखी, पांच मुखी या ​फिर गौरी-शंकर रुद्राक्ष
सिंह राशि के लिए रुद्राक्ष – एक मुखी, तीन मुखी और पांच मुखी रुद्राक्ष
कन्या राशि के लिए रुद्राक्ष – चार मुखी, पांच मुखी और तेरह मुखी रुद्राक्ष
तुला राशि के लिए रुद्राक्ष – चार मुखी, छह मुखी या फिर चौदह मुखी रुद्राक्ष
वृश्चिक राशि के लिए रुद्राक्ष – तीन मुखी, पांच मुखी या फिर गौरी-शंकर रुद्राक्ष
धनु राशि के लिए रुद्राक्ष – एक मुखी, तीन मुखी या पांच मुखी रुद्राक्ष
मकर राशि के लिए रुद्राक्ष – चार मुखी, छह मुखी अथवा चौदह मुखी रुद्राक्ष
कुंभ राशि के लिए रुद्राक्ष – चार मुखी, छह मुखी या फिर चौदह मुखी रुद्राक्ष
मीन राशि के लिए रुद्राक्ष – तीन मुखी, पांच मुखी या फिर गौरी-शंकर रुद्राक्ष

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

ये भी पढ़ें —

Holashtak 2022 : कब से लगेगा होलाष्टक और इसमें किन चीजों को करने की होती है मनाही

Lord Ganesha Temple : गणपति के इन मंदिरों में दर्शन मात्र से दूर होते हैं दु:ख, पूरी होती हैं सभी मनोकामनाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *