Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

Phulera Dooj 2022 : जिनके जीवन में है प्रेम का अभाव, वे आज जरूर करें ये काम

आज 4 मार्च को फुलेरा दूज (Phulera Dooj 2022) का पर्व मनाया जा रहा है. राधा-कृष्ण (Radha-Krishna) को समर्पित फुलेरा दूज हर साल फाल्गुन मास की शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है. मान्यता है कि द्वापरयुग में आज के दिन श्रीकृष्ण ने राधारानी के साथ फूलों की होली खेली थी. तब से आज भी ये परंपरा चली आ रही है. ब्रज में फुलेरा दूज के दिन राधा-कृष्ण के भक्त उनका फूलों (Flowers) से शृंगार करते हैं और उनके साथ फूलों की होली खेलते हैं. शास्त्रों में इस दिन को बेहद शुभ और दोष मुक्त तिथि बताया गया है. मान्यता है कि फुलेरा दूज का हर क्षण इतना शुभ है कि इस दिन कोई भी शुभ काम करने के लिए किसी ज्योतिष विशेषज्ञ का परामर्श लेने की कोई जरूरत नहीं.

जिन लोगों का वैवाहिक जीवन मुश्किल में है, या जिनके जीवन में प्रेम का अभाव है, उन लोगों को आज के दिन खासतौर पर राधा-कृष्ण का विशेष पूजन करना चाहिए. राधा-कृष्ण को संसार में प्रेम का स्वरूप माना जाता है. पूजन करने से उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है और जीवन में इस अभाव से मुक्ति मिलती है.

फुलेरा दूज पर कैसे करें राधा-कृष्ण का पूजन

फुलेरा दूज की तिथि पर शाम के समय स्नान आदि के बाद राधा-कृष्ण की तस्वीर को फूलों से सजाएं. उन्हें रोली, चंदन, पीले अक्षत, इत्र, धूप और दीप समर्पित करें. इसके बाद अबीर-गुलाल अर्पित करें. इसके बाद मधुराष्टक और राधा कृपा कटाक्ष स्तोत्र का पाठ करें और राधा-कृष्ण से अपने जीवन की तमाम समस्याओं को दूर करने और जीवन में प्रेम भरने की प्रार्थना करें. राधा-कृष्ण का पूजन करने से दांपत्य जीवन में मधुरता आती है.

 

ये उपाय भी आ सकते हैं काम

अगर आप अपना विवाह शीघ्र चाहते हैं, तो आज के दिन मंदिर में जाकर राधा-कृष्ण के दर्शन करें. राधारानी को शृंगार का सामान अर्पित करें और उनसे अपनी मनोकामना कहें. इसके बाद उसमें से कोई एक चीज अपने पास प्रसाद रूप में अपने पास रख लें. इससे आपका विवाह की इच्छा शीघ्र पूरी होगी.

राधा-कृष्ण को गायों से बेहद प्रेम था. अगर आप अपने जीवन की समस्याओं का अंत करना चाहते हैं तो आज राधा-कृष्ण का पूजन करने के अलावा गौमाता और बछिया की सेवा जरूर करें. उन्हें चारा खिलाएं और उनका पूजन करें.

अगर वैवाहिक जीवन में किसी तरह की समस्या है तो आज के दिन राधा-कृष्ण को रंग बिरंगे पुष्प अर्पित करें और मंदिर में उनके दर्शन कर उनसे अपने दांपत्य जीवन को सुखमय बनाने की प्रार्थना करें.

ध्यान रखें

आज के दिन मांसाहार, शराब आदि किसी चीज का सेवन न करें.

किसी की बुराई न करें, चुगली न करें.

असहायों को न सताएं, उनकी मदद करें.

 

(यहां दी गई जानकारियां धार्मिक आस्था और लोक मान्यताओं पर आधारित हैं, इसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है. इसे सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है.)

यह भी पढ़ें – Lathmar Holi 2022 Date : जानिए बरसाना की रंगीली गली में कब खेली जाएगी लट्ठमार होली, कैसे शुरू हुई ये परंपरा !

यह भी पढ़ें – विवाह तय करने से पहले जरूर कर लें राशि मिलान, वरना वैवाहिक जीवन में हो सकती है कलह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *