Admin+9759399575 ; Call आचार्य
शादी - विवाह, नामकरण, गृह प्रवेश, काल सर्प दोष , मार्कण्डेय पूजा , गुरु चांडाल पूजा, पितृ दोष निवारण - पूजा , महाम्रत्युन्जय , गृह शांति , वास्तु दोष

Sant Ravidas Jayanti 2022 : इन संदेशों को भेजकर संत रविदास जयंती की दें शुभकामनाएं !

Sant Ravidas Jayanti 2022 Wishes in Hindi : हर साल माघ मास की पूर्णिमा (Magh Purnima) तिथि को संत रविदास (Sant Ravidas) की जयंती के रूप में मनाया जाता है. रविदास एक महान संत होने के साथ दर्शनशास्त्री, कवि, समाज-सुधारक और ईश्वर के अनुयायी थे. कहा जाता है कि संत रविदास का व्यक्तित्व इतना सहज और प्रभावशाली था कि कबीरदास (Kabir Das) ने भी उन्हें ‘संतन में रविदास’ कहकर संबोधित किया है. उन्हें कबीरदास का गुरुभाई भी कहा जाता है. मान्यता है कि मीराबाई, चित्तौड़ के सम्राट राणा सांगा और उनकी पत्नी जैसे तमाम लोग उनके अनुयायी थे. संत रविदास कभी किसी को जाति से ऊंचा या नीचा नहीं मानते थे, वे मानवता में यकीन करते थे. उनका मानना था कि मानव ईश्वर की एक रचना है और सभी मानव एक समान हैं, उनके अधिकार भी समान हैं. यही वजह है कि संत रविदास की शिष्यों में हर जाति और धर्म के लोग शामिल थे.

संत रविदास ने अनेक दोहे और पदों की रचना की जो आज भी काफी प्रचलित हैं. संत रविदास को गुरु रविदास, रैदास, रूहिदास, रोहिदास, सतगुरु और जगतगुरु आदि नामों से पुकारा जाता है. इस बार रविदास जयंती 16 फरवरी को बुधवार के दिन है. इस मौके पर आप अपने करीबियों को यहां बताए जा रहे संदेशों के जरिए बधाई दे सकते हैं.

 

करम बंधन में बन्ध रहियो,
फल की ना तज्जियो आस,
कर्म मानुष का धर्म है,
संत भाखै रविदास.
रविदास जयंती की शुभकामनाएं !

गुरु जी मैं तेरी पतंग,
हवा में उड़ जाऊंगी,
अपने हाथों से न छोड़ना डोर,
वरना मैं कट जाऊंगी.
संत रविदास जयंती की बधाई !

कह रैदास तेरी भगति दूरि है,
भाग बड़े सो पावै,
तजि अभिमान मेटि आपा पर,
पिपिलक हवै चुनि खावै.
गुरु रविदास जयंती की हार्दिक बधाई !

मन चंगा तोह कठौती में गंगा.
संत परंपरा के महान योगी और
परम ज्ञानी संत श्री रविदास जी को कोटि कोटि नमन.
हैप्पी गुरु रविदास जयंती 2022 !

वर्णाश्रम अभिमान तजि,
पद रज बंदहिजासु की,
सन्देह-ग्रन्थि खण्डन-निपन,
बानि विमुल रैदास की
सं​त शिरोमणि गुरु रविदास जयंती की शुभकामनाएं !

जाति-जाति में जाति हैं,
जो केतन के पात,
रैदास मनुष ना जुड़ सके,
जब तक जाति न जात.
हैप्पी गुरु रविदास जयंती !

मन ही पूजा मन ही धूप,
मन ही सेऊँ सहज सरूप.
हैप्पी रविदास जयंती 2022 !

ऐसा चाहूं राज मैं,
मिले सबन को अन्न,
छोट-बड़ो सब सम बसे,
रविदास रहे प्रसन्न.
गुरु रविदास जयंती की शुभकामनाएं

 

यह भी पढ़ें – Magh Purnima 2022 : माघ पूर्णिमा का व्रत रख रहे हैं तो पूजा के दौरान ये कथा जरूर पढ़ें

यह भी पढ़ें – Magh Purnima 2022 : इस दिन स्नान दान और जाप का मिलता है विशेष फल, जानिए माघ पूर्णिमा से जुड़ी खास जानकारी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *